संयुक्त राष्ट्र ने अफगानिस्तान में इस्लामिक स्टेट के विस्तार पर चिंता जताई

न्यूयॉर्क: अफगानिस्तान पर संयुक्त राष्ट्र के विशेष दूत, डेबोरा लियोन्स ने बुधवार को पूरे अफगानिस्तान में इस्लामिक स्टेट (आईएसआईएस) के विस्तार पर चिंता जताई, जो केवल राजधानी काबुल में सक्रिय हुआ करता था।

अफगानिस्तान को संयुक्त राष्ट्र की सहायता के बारे में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक के दौरान लियोन ने बताया कि इस्लामिक स्टेट समूह केवल राजधानी काबुल और कई प्रांतों में सक्रिय हुआ करता था, लेकिन अब यह लगभग सभी 34 प्रांतों में मौजूद है और तेजी से सक्रिय है।

उन्होने कहा कि इस साल के पहले दस महीनों में आईएसआईएस को 334 हमलों के लिए जिम्मेदार ठहराया गया था, जो पिछले पूरे साल के आंकड़े से पांच गुना अधिक है।

उन्होने यह भी चेतावनी दी कि इस्लामिक स्टेट आतंकवादी समूह के विस्तार को रोकने में तालिबान की अक्षमता देश में सुरक्षा में गिरावट का कारण बन रही है। उन्होंने आगे कहा कि अगस्त में अमेरिकी सेना के अफगानिस्तान से हटने के बाद इस तरह के हमले तेजी से बढ़ने लगे।

15 अगस्त को तालिबान द्वारा काबुल पर नियंत्रण करने के बाद से अफगानिस्तान में सुरक्षा स्थिति काफी खराब हो गई है।आईएसआईएस ने अमेरिकी बलों की निकासी के बाद काबुल हवाई अड्डे पर हमले सहित कई हमले किए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here